नन दुष्कर्म: आरोपी बिशप को केरल पुलिस का समन, 19 सितंबर को पेश होने के लिए कहा

नन से दुष्कर्म मामले में केरल पुलिस ने बुधवार को हाईकोर्ट में एक हलफनामा दिया। इसमें कहा गया है कि जांच में पुलिस को कुछ अहम सबूत मिले। इनके आधार पर कहा जा सकता है कि जालंधर डाइसिस के बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने कई बार आप्राकृतिक कृत्य और दुष्कर्म किया। पुलिस ने बिशप को समन भेजकर 19 सितंबर को पेश होने के लिए कहा है।

आरोपी बिशप ने मंगलवार को कहा, ”पुलिस ने करीब नौ घंटे तक मुझसे पूछताछ की। उन्होंने उसके (नन) के भी बयान दर्ज किए, जो विरोधाभाषी थे। अब पुलिस को पता लगाना है कि कौन सच बोल रहा है। मैंने सुना है कि वे (नन) प्रदर्शन कर रही हैं। यह उनका अधिकार है। मुझे लगता है कि कुछ लोग चर्च के खिलाफ हैं, जो इन सिस्टर्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। साजिश के तहत मौके का फायदा उठाने के लिए सिस्टर्स को आगे लाया जा रहा है।”

नन की रिश्तेदार ने यौन संबंधों की शिकायत की : उधर, मिशनरीज जीसस कॉन्गरेगेशन ने बिशप का बचाव किया। बयान में कहा, ”नन की एक रिश्तेदार ने बिशप से उसके यौन संबंधों की शिकायत की थी। हमारी जांच में शिकायतकर्ता के पति के साथ नन के संबंधों की बात सामने आई। कथित दुष्कर्म के अगले दिन नन बिशप के सामने हंसती हुई देखी गई।”

बिशप की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन जारी : केस दर्ज होने के बाद कई दिनों तक आरोपी बिशप की गिरफ्तारी नहीं हुई। इसे लेकर पीड़िता के साथ कई साथी नन और कैथोलिक रिफॉर्मेशन संस्थाएं केरल में प्रदर्शन कर रही हैं। पिछले दिनों निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज ने दुष्कर्म पीड़िता के चरित्र को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। आरोप लगाया कि नन ने जालंधर के बिशप के साथ रजामंदी से संबंध बनाए, इसके बाद आपत्ति दर्ज कराई।

डीजीपी ने दिए थे जल्द जांच पूरी करने के निर्देश: राष्ट्रीय महिला आयोग ने रविवार को बयान पर संज्ञान लेकर डीजीपी लोकनाथ बेहेरा से विधायक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस मामले में महिला आयोग के दखल के बाद डीजीपी ने आरोपी बिशप के खिलाफ जांच जल्द पूरी करने के निर्देश दिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *